छत्तीसगढ़जाजंगीर चांपा

यातायात पुलिस ने मचाया उत्पात ट्रेलर चालको में भय का माहौल

अवधेश टंडन

जांजगीर चांपा:-प्रशासनिक जिम्मेदारी और अपने कर्तव्य का भली-भांति निर्वाह ना करते हुए यातायात पुलिस द्वारा डरा धमकाकर ट्रेलर चालकों को रोककर मनमाना रकम लिए जाने का बड़ा मामला सामने आया है, आपको बता दें कि पूरा मामला जांजगीर-चांपा जिले की शक्ती बाराद्वार मार्ग पर बने सकरेली रेलवे फाटक के समीपस्थ की है जहां कुछ यातायात पुलिस विगत कुछ दिनों से ट्रेलर चालकों को रोककर मनमाना रकम वसूली कर रहे हैं.जिससे ट्रेलर चालकों में भय व आक्रोश का माहौल उत्पन्न होता हुआ नजर आ रहा है। यातायात पुलिस द्वारा किए जा रहे इस अवैध वसूली के संबंध में सूचना मिलने पर जब पत्रकार उक्त मार्ग पर पहुंचे तो वहां मौजूद यातायात पुलिस वहां से रफूचक्कर हो गए।

यातायात पुलिस द्वारा ट्रेलर चालकों को डरा धमकाकर चालान के रूप में मोटी रकम वसूल की जा रही है तथा जो ट्रेलर चालक यातायात पुलिस द्वारा कहे गए रकम का भुगतान नहीं करता उसकी गाड़ी की जरूरी दस्तावेज जैसे ड्राइविंग लाइसेंस गाड़ी की कागजात आदि महत्वपूर्ण दस्तावेज को यातायात पुलिस द्वारा अपने साथ ले जाया जाता है तथा ट्रेलर चालक के नंबर पर फोन कर पैसों की मांग की जाती है जो चालक उनकी मांगों को स्वीकार कर यातायात पुलिस द्वारा कहे गए रकम का भुगतान करता है उसकी संपूर्ण दस्तावेज यातायात पुलिस द्वारा वापस कर दी जाती हैं। इसमें हैरान करने वाली बात यह है कि चालान के रूप में पैसे लेने के पश्चात भी यातायात पुलिस द्वारा चालकों को रसीद नहीं दिया जाता अगर रसीद दिया भी जाता है तो रसीद में दर्ज पैसों की संख्या लिए गए पैसों से कम होती है।
वही उक्त मामले पर पीड़ित ट्रेलर चालक महिपाल जाट ने यातायात पुलिस की गलतियों को उजागर करते हुए बताया कि वह ट्रेलर क्रमांक RJ-48 GB 0438 पर सामान लोड कर अपने एक अन्य साथी ट्रेलर चालक ट्रेलर क्रमांक RJ -48 GA 5257 के साथ पीथमपुर मध्य प्रदेश से रायगढ़ की ओर जा रहे थे जब वह दोनों अपनी-अपनी ट्रेलर को लेकर बाराद्वार शक्ती मार्ग पर बने सकरेली रेलवे फाटक के समीप 16 मार्च की साम लगभग 6:30 बजे पहुंचे तो कुछ यातायात पुलिस द्वारा उन्हें रोककर गाड़ी की जरूरी दस्तावेज ड्राइविंग लाइसेंस दिखाने के लिए कहा गया जब उनके द्वारा सभी दस्तावेज प्रस्तुत किया गया तब मौके पर पहुंची यातायात पुलिस चालकों की जरूरी दस्तावेज को लेकर वहां से रफूचक्कर हो गए तत्पश्चात चालकों को फोन कर पैसों की मांग की गई तथा अगले दिन 17 मार्च की सुबह लगभग 11:30 बजे यातायात पुलिस पुन: उक्त स्थान पर पहुंची तथा दोनों ट्रेलर चालकों से 6000 की दर से कुल 12000 रुपय लेकर बिना रसीद प्रदान किए चालकों की जरूरी दस्तावेज वापस कर दिया गया। वही एक अन्य चालक मंटू पासवान ने बताया कि वह उड़ीसा से चांपा जा रहा था उसी बीच 17 मार्च को बाराद्वार पर यातायात पुलिस द्वारा उसकी गाड़ी को रोककर गाड़ी की सभी दस्तावेज प्रस्तुत करने को कहा गया जब चालक के द्वारा दस्तावेज प्रस्तुत किया गया तो मौके पर पहुंची यातायात पुलिस द्वारा 12 हजार रूपा की मांग की गई रुपए नहीं देने पर दस्तावेज को लेकर यातायात पुलिस वहां से चले गए तथा पैसा नहीं देने पर 24 घंटे बीत जाने के पश्चात भी उक्त चालाक को यातायात पुलिस द्वारा दस्तावेज नहीं लौटाया गया।
उक्त स्थल पर मंटू पासवान के साथ उपस्थित एक अन्य चालक सुरेश जो OD-23 F5287 का चालाक है उसके द्वारा बताया गया कि.यातायात पुलिस द्वारा उसकी गाड़ी को रोककर
12 सो रुपए लिए गए तथा 200 रुपए का रसीद प्रदान किया गया। इस प्रकार यातायात पुलिस द्वारा ट्रेलर चालको को रोक कर मनमाना रकम वसूल किया जा रहा है परंतु जिम्मेदार अधिकारियों की कानों पर जूं तक नहीं रेंग रही है जिसने जिम्मेदार अधिकारियों की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े कर दिए हैं।

ट्रैफिक पुलिस जिसका मोबाइल नंबर +917869344860 यह है उसके द्वारा मुझसे और मेरे साथी से कुल 12 हजार रुपए लेकर बिना रशीद दिए गाड़ी की कागजात को वापस किया गया।।
ट्रेलर चालक महिपाल जाट

मैं वहां पर स्वयं जा कर देखता हूं जांच की जाएगी
एसएस परिहार यातायात डीएसपी

Back to top button