धरमजयगढ़

12 मार्च को होने वाले जनसुनवाई का विरोध करने ग्रामीणों के साथ पहुंचे नवल राठिया व छाल क्षेत्र के जनपद सदस्य श्रीमती मीरा संतराम खूंटे।

विनोद पटेल


जल जंगल जमीन हमर आये, जेमा के जल जमीन ल तो सक डारो, बाँचे जंगल ल हमन नई देवन – नवल राठिया


धरमजयगढ़ । छाल खुली खदान के विस्तारीकरण को लेकर 12 मार्च को होने वाले जनसुनवाई का विरोध करने पहुँचे क्षेत्र के महिला जनपद सदस्य मीरा संतराम खूंटे। और ग्रामीणों के साथ जनसुनवाई के लिए बन रहे पंडाल को बनने का विरोध कर पंडाल बनने से रोका जैसे ही इस बात का पता क्षेत्र के आदिवाशी युवा नेता नवल राठिया को पता चला अपने दल बल सहित जनसुनवाई स्थल पहुँच कर ग्रामीण के समर्थन में खड़े हो गए। और एस ई सी एल को चेतावनी दी कि यदि हमारे क्षेत्र की जनता को मूलभूत सुविधा से दूर रखा गया जो अभी तक जारी है जब कि आपका खदान खुले 15 साल हो गए। यदि ऐसा फिर जारी रहा और नौकरी के लिए युवाओं को जिनकी जमीन खदान में जा रही उनको यदि नौकरी के लिए घुमाया गया और बाकी क्षेत्र के 90% युवाओं को स्थानीय ठेका कम्पनी में कार्य दिलवाने में आना कानि की तो हमारी लड़ाई फिर से शुरू होगी जो अंत तक जाएगी।
साथ ही क्षेत्र में जो सड़कों पर जो धूल जमी रहती है उसके लिए ग्राम के महिलाओं का समूह बनवा के उनसे झाड़ू और पानी छिड़काव करवाया जाए। जिससे रोजगार के अवसर भी बढ़ेंगे।
और जितने भी मुआवजा के पेंडिंग केस है उसे जल्द ही निराकरण करने की चेतावनी दी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button