बिलासपुर

घर घुसकर महिला को बंधक बनाकर नगदी और सोने चाँदी के जेवर लूटपाट करने वाले आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार….

बिलासपुर । करीब 10 दिन पूर्व थाना सिविल लाइन क्षेत्र अंतर्गत व्यापारी के घर में घुसकर महिला को बंधक बनाकर नगदी व सोने चांदी के जेवर लूटकर फरार होने वाले आरोपियों को पकड़ने में बिलासपुर पुलिस को बड़ी सफलता हासिल हुई है,लूट कांड की घटना को अंजाम देने वाला मास्टरमाइंड और कोई नहीं बल्कि व्यवसाई के दुकान पर पूर्व में काम करने वाला नौकर ही निकला, पुलिस ने पकड़े गए आरोपियों से लूट के तकरीबन 10 लाख के सोने चांदी के जेवर बरामद किए हैं..

पुलिस कप्तान प्रशांत अग्रवाल ने बताया
बिलासागुड़ी में मामले का खुलासा करते हुए पुलिस कप्तान प्रशांत अग्रवाल ने बताया की थाना सिविल लाइन अंतर्गत ग्रीन पार्क कालोनी के मकान में बीते 15 दिसंबर की शाम तकरीबन सात बजे घर घुसकर दो युवकों ने महिला के सिर पर वार करने के पश्चात घायल महिला को बंधक बनाकर आरोपित द्वारा तकरीबन एक लाख रुपये नकदी और सोने चांदी के जेवर लूट ले गए थे, जिसके बाद घायल महिला ने किसी तरह बाहर निकलकर पड़ोसियों को घटना के विषय में जानकारी दी,वही जानकारी के पश्चात से देर रात तक पुलिस जांच में जुटी रही…

पुलिस की 8 टीम ने 10 दिनों की मेहनत के बाद सफलता हासिल की
पुलिस कप्तान प्रशांत कुमार अग्रवाल ने बताया कि ग्रीन पार्क स्थित मनोहर आडवाणी के घर में घुसकर महिला को घायल कर लूट करने वाले आरोपी को पुलिस की 8 टीम ने लगातार 10 दिनों की मेहनत के बाद पकड़ने में सफलता हासिल की है,लूट की घटना को अंजाम देने वाला कोई और नहीं बल्कि पुराना नौकर है,उन्होंने बताया कि दरअसल आरोपी रवि भोसले पुराना हाईकोर्ट के पीछे अटल आवास में निवासरत है और कुछ सालों पहले आर आर कलेक्शन में काम करता था काम के दौरान मालिकों द्वारा भेजे जाने पर आरोपी ग्रीन पार्क स्थित घर में आना जाना करता था जिससे घर की हलचल का उसे अंदाजा था,

वही तकरीबन 1 साल पहले कुछ विवाद की वजह से रवि ने काम छोड़ दिया था,लेकिन कुछ दिनों पहले अपने पुराने मित्र दीपक यादव के साथ मिलकर अपने मालिक के घर की रेकी कर लूट की योजना बनाई और 15 दिसंबर को शाम करीब 7:00 बजे मनोहर आडवाणी के घर में घुसकर महिला को घायल कर लूट की घटना को अंजाम दिया,वही न्यायधानी में लगातार हो रहे अपराधों के बीच जैसा ही लूट की घटना लोगों को पता चली तो शहर में दहशत फैल गई था..

पुराने नौकरों की लिस्ट तैयार की
वही बिलासपुर पुलिस ने भी इसे चुनौती के रूप में स्वीकार करते हुए घटना के लिए 8 टीमें बनाकर लगातार छानबीन कर रही थी इस दौरान शहर भर के अपराधों में संलिप्त रहने वाले लोगों को उठाकर पूछताछ भी की गई लेकिन आरोपियों का कहीं पता नहीं चल पा रहा था,इसी दौरान पुलिस ने आडवाणी के घर काम करने वाले पुराने नौकरों की लिस्ट तैयार की और एकदम बारीकी से सभी से पूछताछ करना शुरू किया इस दौरान रवि भोंसले से भी कड़ाई से पूछताछ की गई जिस पर रवि ने अपने दोस्त के साथ मिलकर अपराध करना कबूल कर लिया लुटे हुए नगदी को दोनों आरोपियों ने आपस में बैठकर खर्च कर दिए थे,

पुलिस कप्तान ने बताया कि पकड़े गए आरोपियों से लूटे गए करीबन 10 लाख रुपये के सोने चांदी के जेवर बरामद कर लिया गया है,साथ ही टीम द्वारा की गई कड़ी मेहनत पर वही टीम की सफलता पर डीजीपी डीएम अवस्थी द्वारा 50,000,रेंज आईजी दीपांशु काबरा द्वारा 20,000 व पुलिस कप्तान प्रशांत अग्रवाल द्वारा 10,000 नगदी इनाम की घोषणा की गई है…

उक्त संपूर्ण कार्यवाही में पुलिस कप्तान के निर्देश पर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर उमेश कश्यप,नगर पुलिस अधीक्षक आरएन यादव, निरीक्षक शनिप रात्रे, कलीम खान परिवेश तिवारी,उप निरीक्षक, मनोज पटेल,मोहन भारद्वाज,सागर पाठक,साइबर सेल बिलासपुर से उप निरीक्षक मनोज नायक,अजय वारे,स.उ.नि जितेश सिंह,भरत राठौर,हेमंत सिंह,प्रधान आरक्षक शोभित कैवर्त्य,चंद्रकांत डहरिया,अशोक कश्यप,आरक्षक सरफ़राज़ खान,जय साहू,देवेंद्र दुबे,विकास यादव,अविनाश पांडेय, संजीव जांगड़े,मनोज बघेल,गोकुल जांगडे, नुरुल कादिर,सोनू पाल,तदबीर पोर्ते,अशफाक अली,साजिद खान,दीपक उपाध्याय,राहुल सिंह एवं अन्य की महत्वपूर्व भूमिका रही..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button