छत्तीसगढ़रायगढ़

डोर-टू -डोर कचरा संग्रहण करने वाली महिलाओं ने अपनी मांगो को लेकर कमीशनर को दिये ग्यापन ।

रायगढ़स्वच्छ बनाने में महिलाओं की एक अहम भूमिका रहती है, जिस प्रकार माता अपने बेटे को स्वच्छ रखने के लिये हर पल तत्पर रहती है, उसी प्रकार, रायगढ़ (शहर) को स्वच्छ रखने के लिये, अपने जान को जोखिम में डाल कर उन गरीब महिलाओं जो अनु. जाति. अनुजन. जाति वर्ग के महिलाएं अधिकतर इस कार्य में लगे हुए हैं, बात की जाय तो रायगढ़ नगरनिगम की डोर टू डोर कार्य कर रही महिलाएं जिसमें कुल 300 महिलाएं कार्य करती है।

जहाँ 10सेक्टर हैं !जिन्होंने अपने मांगो को लेकर रायगढ़ कमीशनर को ज्ञापन दिये, वही पर निवेदन करते हुए, कहा कि हम सब महिलायें सफाई मित्र हमारे रायगढ़ शहर को स्वच्छ रखने में नगरनिगम के स्थायी सफाई कर्मचारीयों एवं प्लेस मेन्ट सफाई कर्मचारियों के सामान ही काम करते हैं, लेकिन सुविधा निम्न स्तर की मिलती है!महिला सफाई मित्र गंदे बीमारी जनित कचरों के सीधे सम्पर्क में रहते हैं! जिसके कारण कई बार बीमारीयों का सामना करना पड़ता है!छ. ग. शासन के नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग के आदेश दिनांक 08/08/2017 के शर्त क्रं. 21के अनुसार प्रतिमाह स्वास्थ्य परीक्षण करवाना चाहिये, पर किसी प्रकार से प्रशिक्षण किया नहीं जाता जो नियम का एक विरुद्ध है, वही दूसरी ओर 8 घंटे कार्य करने के बाद मानदेय (6000) छह हजार रु. मिलती है, जिसके कारण भरण पोषण करना मुश्किल होता है, तदैव उसकी राशि बढाकर (10, 000 दस हजार रु.)की जाय, साथ ही साथ सभी कर्म चारी की तरह जीएफ. और ई. एस. आई. जमा करवाया जाय, साथ ही साथ सप्ताह में एक दिन छुट्टी की मांग करते हुए, कार्य स्थल पर किसी कारण वश दुर्घटना होने पर सफाई मित्र को प्रशासन की तरफ से आर्थिक सहायता की मांग की !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button