सारंगढ़

बहु को ससुराल वालों ने मिट्टी तेल डालकर जलाने का किया प्रयास और जमकर की मारपीट


सारंगढ़- बहु को ससुराल वालों ने रस्सी में बांधकर किया जमके मारपीट और मिट्टी तेल डाल कर जलाने का प्रयास 5 लोगो ने मिलकर बहु के साथ क्रूरता के साथ किया मार पिट जिससे बहु की हालत गम्भीर दर्द में कहरा रही बहु! पीड़िता की विवाह 2012 में चूड़ी पहना कर गांव के ही विदयासागर जोल्हे निवासी हिर्री को जीवन यापन करने के लिए लिखा पढ़ी और पारिवारिक सलाह के साथ दिया गया था। 2 साल तक जिंदगी जैसे तैसे कटता गया जिसकी 3 बच्चे है। पीड़िता की ससुर बिहार में सर्विस में है उनके दो बेटे है जिसकी एक बेटा बुद्धिसागर जोल्हे बिहार में रहता है और दूसरा विदया सागर जोल्हे हिर्री मे रहता है। जिसके साथ पीड़िता जीवन यापन कर रहा है।

लेकिन पीड़िता को आय दिन घर वाले परिशान करते रहते है। पीड़िता की सास 3 रोज पहले पीड़िता के नाम पर झूठी शिकायत भी किये है ,उसके बाद मैं तुम्हारे नाम पर शिकायत कर दी हु मेरा कुछ नही बिगाड़ सकती करके गाली,गलौच ताना भाषा करके परिसान करती घर से निकलो निकाल देंगे मार के फेक देंगे करके धमकी देते रहते। इस सबसे परिसान होकर पीड़िता कल सारंगढ़ थाना में शिकायत दिया की मुझे घर वाले परिसान कर रहे है। जो मेरे घर वाले सोन के आभूषण,वगेरह दिए सभी को भी लूट कर रख लिए और अब घर से निकलो करके परिसान किया जिसका शिकायत थाना में दी। आज शाम को खाना बनाने के लिए घर मे चूल्हा पास बैठी तो पीड़िता की देवर पीछे से आया और बाल को खिंचते हुए रस्सी को गले मे फसा कर रखे रहा और पीड़िता की सांस फूलने पर छोड़ा जिससे पीड़िता नीचे गिर गयी पीड़िता की सास,बहु, पीड़िता की सौतन के बेटियो ने मिलकर हाथ पैर में रस्सी में बाधने का प्रयास कर रहे थे।

साड़ी,ब्लॉज फटा कपड़े और हाथ पैर में निशान और हालत जमकर मार पीट भी किया अंतिम में जब असफल हो गया तो। मिट्टी तेल डालकर जलाने का प्रयास कर रहे थे। जिससे अपनी जान बचाते हुए पीड़िता भागते हुए अपनी मायके जो हिर्री के ही दूसरे मुहल्ले में है वहाँ तक पहुची पीड़िता की हालात को देखते हुए घर वाले आनन फानन में 112 ,108 को सूचना दिया जिससे 112 के माध्यम से तत्काल सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सारंगढ़ लाया गया जहां इलाज चल रहा है। अब पीड़िता की 2 बच्ची 1 बेटा हुआ है। पीड़िता शासन से न्याय की गुहार लगा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button