सारंगढ़

सारंगढ़ मे गुरु शब्द को फिर किया कलंकित पड़िए

बच्चा अगर कुछ अच्छा करता है, तो उसका श्रेय उसके मां-बाप और उसके गुरूओं को जाता है।पर जब यही शिक्षक भेड़िए बन जाएं और बच्चों की मासूमियत को ही खिलौना बना दें, तो इन मासूम बच्चों का क्या होगा शायद इन सारे सवालों को वही मां-बाप समझ सकते हैं जिसने इनका दर्द समझा हो।स्थानीय नगर के वार्ड क्रमांक 4 तुर्की तालाब पार देवाँगन गली में रहने वाले शिक्षक राजेंद्र देवाँगन द्वारा अपनी ही पड़ोस के 5 साल से 7 साल की बालिकाओं का कपड़े उतरवा, स्वयं अपने कपड़े उतार घिनौनी हरकत करने के कारण उन 6 बालिकाओं के माता-पिता द्वारा गुरु शब्द की महत्ता को नकारने वाले शिक्षक राजेंद्र देवाँगन के खिलाफ अपने बच्चों को लेकर थाना पहुंचे । और उन बालिकाओं की ओर से उनके माता-पिता ने थानेदार आशीष वासनिक से निवेदन कियें कि – समाज के ऐसे वहशी दरिंदे को तत्काल गिरफ्तार करें । बच्चों के अभिभावकों के बात को ध्यान में रखते हुऐ । थानेदार आशीष वासनिक ने तत्काल पुलिस भेज आरोपी को फरार होने से पहले पकड़कर थाना लेकर आयें । आरोपी राजेंद्र देवाँगन पर धारा 376 , 354, 511 पास्को एक्ट 8/12 के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर मामले की सघन जांच में पुलिस जुटी हुई है ।

Back to top button