Uncategorizedक्राइमछत्तीसगढ़रायगढ़सारंगढ़

सारंगढ़ / रेल्वे के ग्रुप सी में नौकरी लगाने के नाम पर रिटायर्ड टीचर से 7.50 लाख की धोखाधाड़ी….. कई बेरोजगारों के साथ धोखाधडी, थाने में हुई एफआईआर…..

*रायगढ़* । शिकायतकर्ता/आवेदक सीताराम साहू पिता शंकर लाल साहू उम्र लगभग 65 वर्ष सेवानिवृत्त शिक्षक निवासी ग्राम दानसरा थाना व तहसील सारंगढ के शिकायत पत्र की जांच पर दिनांक 29.03.2022 को अनावेदक नरेश जायसवाल निवासी ग्राम सालर, नारायण प्रसाद तिवारी निवासी घोठला बड़े और नरेन्द्र देवांगन निवासी नई दिल्ली के विरूद्ध धोखाधड़ी का अपराध दर्ज कर विवेचना में लिया गया है । शिकायतकर्ता सीताराम साहू बताया कि परिवार में एक पुत्र शुभम साहू जो वर्तमान में बेरोजगार है, उसके नौकरी की चिंता में गांव के कुछ लोगों से चर्चा किया तब पता चला कि अनावेदकगण नरेश जायसवाल जो प्रभारी सरकारी समिति प्रबंधक दानसरा के पद पर कार्यरत है जो “रेल्वे ग्रुप- सी” में नौकरी लगाने के लिए दिल्ली गया हुआ है । उसी दिनांक 15.07.2018 को नरेश जायसवाल से फोन पर चर्चा किया तब नरेश जायसवाल अपना नियुक्ति उच्चाधिकारियों के माध्यम से करवाने बताकर 4, 5 पोस्ट रिक्त है कहकर बताया कि अगर शुभम साहू को रेल्वे ग्रुप सी में भर्ती करवाना चाहते हैं तो 7,50,000 से 8 लाख देना पड़ेगा। नारायण प्रसाद तिवारी निवासी घोठला बड़े और नरेन्द्र देवांगन तब उसके बातों से प्रभावित होकर रूपये देने के लिये तैयार हो गया । नरेश जायसवाल 4 लाख रूपये दिल्ली के बताये पते पर लेकर आना कहने पर अपने बेटे के साथा दिल्ली गया । दिन दिनदयाल पटेल निवासी बिजूपाली उड़ीसा का भी अपने साले भुवन पटेल निवासी सालर को नौकरी लगाने 4 लाख रूपये लेकर दिल्ली नरेश जायसवाल को देने पहुंचा था। दिल्ली में सन विलेज होटल मार्ग मैट्रो स्टेशन दिल्ली पर नरेश जायसवाल को 4-4 लाख रूपये दिये । जहां अनावेदक नारायण प्रसाद तिवारी भी उपस्थित था । वहीं दोनों दिल्ली के अनावेदक नरेन्द्र देवांगन नाम के व्यक्ति से मिलवाये । नरेश जायसवाल एक सप्ताह के बाद दिनांक 01/08/2018 को प्रशिक्षण पर दानापुर (बिहार) जाने के लिए आदेश दिया और एक रजिस्टर में शुभम साहू एवं अन्य अभ्यार्थियों का हस्ताक्षर लिया गया था । उसके बाद नरेश जायसवाल एवं नारायण प्रसाद तिवारी शेष रकम 3 लाख जमा नहीं करोगें तो रेल्वे ग्रुप सी नियुक्ति नहीं मिलेगा कहकर फोन पर रूपये देने का दबाव बनाते थे । तब दानसरा में सोसायटी में दोनों को 3 लाख रूपये दिया और आदेश पत्र के लिये नारायण प्रसाद तिवारी द्वारा 50 हजार मांगने पर उसके बैंक खाता में दिनांक 18/10/2018 को रूपये जमा कराया । फिर वे लोग दशहरा दिपावली का छुटटी के बाद ट्रेनिंग जाना बोले, ऐसा करते हुये 4-5 माह गुजर गया । आज हो जायेगा कल हो जायेगा कहकर टाल मटोल करते रहे नरेश जायसवाल, नारायण प्रसाद तिवारी और नरेन्द्र देवांगन ठगी एवं धोखाघडी कर 7 लाख 50 हजार रूपये ले लिया गया है । शिकायतकर्ता बताया कि आरोपीगणों द्वारा चार, पांच और लोगों से करीब 24,50,000 रुपए की ठगी की गई है । तीनों आरोपियों पर थाना सारंगढ़ में धारा 419, 420, 34 IPC का अपराध दर्ज कर विवेचना में लिया गया है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button