Uncategorizedछत्तीसगढ़बरमकेलारायगढ़

आखिर क्यों बरमकेला पुलिस ने बेवजह शक के आधार पर चोरी का आरोप लगाकर युवक से की मारपीट पढ़िए पूरी खबर…

रायगढ़। बरमकेला पुलिस द्वारा बेवजह शक के आधार पर चोरी का आरोप लगाकर युवक से मारपीट व प्रताड़ित करने का मामला सामने आया है। पीड़ित ने मामले की शिकायत पुलिस अधीक्षक से किया है। आज पीड़ित परिवार ने पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपकर उक्त मामले में जांच कर उदण्डता पूर्वक मारपीट करने वाले पुलिस कर्मियों पर कार्यवाही करने की गुहार लगाई है।


पीड़ित के पिता कौशल प्रशाद ने ज्ञापन में बताया है कि वह जगन्नाथ मंदिर बरमकेला में रहता है जो 31 मार्च को लगभग प्रातः 10:30 बजे बाहर जाने के कारण घर का चाबी उसके पड़ोसी बड़ी का लड़का चतुर सिंह पटेल के पास छोड़ दिया था।

उसी दिन 12:00 बजे उसके पुत्र आकाश पटेल घर आया और उनके पास चाबी मांगने के लिए गया तो कमरे में ताला लगा हुआ था। उसके किराएदार किसान पटेल को पूछने पर कहा कि चाबी मेरे पास है और वे कहीं बाहर गए हैं ऐसे कहते हुए अकाश पटेल को किराएदार किशन पटेल ने चाबी दे दिया।

जिसके बाद आकाश चाबी लेकर घर आया और खाना खाकर अपने दादा के साथ सो गया अचानक शाम को लगभग 4:30 बजे आकाश के मोबाइल में चतुर सिंह के पुत्री ज्योति पटेल ने फोन कर घर पर बुलाया और जबरन अकाश पटेल को उसके घर में चोरी हो गया है कहते हुए चतुर सिंह द्वारा बार-बार आकाश के ऊपर चोरी का इल्जाम लगाया और चोरी किए हो कहकर चोरी की पैसा लाकर देने की बात कहा और पुलिस बुला लूंगा शिकायत करने जा रहा हूं कह कर चतुर सिंह चला गया।

पुलिस द्वारा बिना कोई लिखित सूचना दिए बगैर थाने ले जाने का आरोप –

पीड़ित ने ज्ञापन में बताया है कि पुलिस द्वारा बिना कोई लिखित सूचना दिए हुए अकाश पटेल व किराएदार किशन पटेल को थाना लाया गया जहां अकाश पटेल को कमरे में बंद कर दिया गया। जबकि चोरी के संदेह में लाये गए किशन पटेल को थाने में कुछ नही किया गया।

नशे के हालत में पुलिस कर्मियों द्वारा मारपीट का आरोप–

प्रार्थी ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए बताया है कि उसको कमरे में बंद कर बिना वर्दी के पुलिसकर्मियों द्वारा नशे के हालत में पुलिस कर्मियों द्वारा मारपीट किया गया एवं चमड़े के पट्टे से पीटा गया तो वही बाल को खींचा गया दाढ़ी को भी नोचा गया नंगा करके पीड़ित के पिछवाड़े को जूता से पीटा गया। पीड़ित ने बताया कि मारपीट करने वाले पुलिसकर्मियों में तरुण महिलांगे एवं टीकाराम पटेल के साथ और चार आरक्षकों द्वारा उससे मारपीट किया गया जिससे उसके शरीर में चोट भी आई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button