Uncategorizedछत्तीसगढ़जाजंगीर चांपा

गलती से भी ना करें इस स्वास्थ्य अधिकारी को व्हाट्सएप में जानकारी साझा, नहीं तो कर दिया जाएगा आपका नंबर ब्लॉक।

रोशन साहू

जांजगीर चांपा 12 मई 2021। पूरे भारत सहित छत्तीसगढ़ में भी कोविड-19 का दूसरा लहर जारी है जिसमें लगातार संक्रमित व्यक्तियों की संख्या जिस तरह बेतहाशा बढ़ी है उसी तरह मौतों की भी संख्या बढ़ रही है फिलहाल छत्तीसगढ़ में दूसरी लहर पर जल्द ही काबू किया जा रहा है और जो भयावह स्थिति बनी हुई थी उससे छत्तीसगढ़ उभर रहा है।
दरअसल आपको बताएं छत्तीसगढ़ के जांजगीर-चांपा जिला मैं स्वास्थ्य विभाग के मुखिया एस. आर बंजारे मुख्य चिकित्सा अधिकारी जांजगीर चांपा को स्वास्थ्य विभाग के द्वारा हुई लापरवाही हो पर पर्दा डालने के लिए एक नया पैंतरा आजमाया जा रहा है। जिले में हो रहे स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही यों को आम व्यक्ति या पत्रकार सोशल मीडिया(व्हाट्सएप) के माध्यम से तस्वीरों व खबरों को जब उनको भेजा जाता है तो जिले के माननीय डॉक्टर एस. आर. बंजारे के द्वारा अपने व्हाट्सएप नंबर से उसे ब्लॉक कर दिया जाता है कि वह दोबारा ऐसी तस्वीरें व खबरे उनको न पहुंचाएं तथा शुतुरमुर्ग की भांति अपने सिर को रेत में धंसा देने जैसी स्थिति जांजगीर जिले के स्वास्थ्य विभाग द्वारा देखा जा रहा है।


जबकि इस कोविड-19 वायरस की कि चपेट में पूरा छत्तीसगढ़ है व सभी जिले में फैला हुआ है क्योंकि स्वास्थ्य विभाग भी पूरी तरह से पिछले 1 वर्षों से इस वायरस से लड़ रही हैं जिससे कि उनके कामों पर अधिक दबाव आ रहा है किंतु यह ऐसा भी नहीं होना चाहिए कि आम व्यक्ति जब उन्हें कॉल करें और कॉल को रिसीव ना करने की स्थिति में हो और वह आम व्यक्ति उनको व्हाट्सएप के माध्यम से कोई जानकारियां लेने या देने की कोशिश करें तो उन्हें सीधा ब्लॉक कर दिया जाए यह कोई उचित उपाय नहीं है।
हाल ही में पत्रकार लक्ष्मीकांत बरेठ द्वारा सीएमएचओ डॉक्टर बंजारे को सिविल डिस्पेंसरी बाराद्वार की तस्वीरों को उनके व्हाट्सएप नंबर पर साझा करने की कोशिश की गई किंतु डॉक्टर बंजारे उन्हें कई दफा ब्लॉक कर दिया गया इसके पश्चात एक अन्य पत्रकार फ्लेश पांडेय के द्वारा भी उनको बाराद्वार सिविल डिस्पेंसरी में अव्यवस्था के संबंध में व्हाट्सएप्प के माध्यम से खबर व तस्वीरों की जानकारी देने के लिए उनके नंबर पर साझा किया पर उनका भी वही हश्र हुआ उनका भी नंबर ब्लॉक कर दिया गया ताकि खबरों व तस्वीरों को देख कर संज्ञान न लेना पड़े और लापरवाहों पर कार्यवाही न करना पड़े।


इससे अनुमान लगाया जा सकता है कि वह स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही ऊपर कितना पर्दा डालने की कोशिश करते रहते हैं या यूं कहें कि वे जिले में हो रहे स्वास्थ्य विभाग से आम लोगों को परेशानियों को नजरअंदाज करने की कोशिश में लगे रहते हैं।कई पत्रकारों व नागरिको द्वारा भी इस बात को सही बताया गया अब यदि पत्रकारों के साथ ऐसा किया जाता है तो आम नागरिक की तो बात ही छोड़िये।पत्रकार शाशन प्रशाशन व समाज को आइना दिखाने का काम करते है जिन्हें इनके जैसे बड़े अधिकारी द्वारा ब्लॉक किया अपने आप मे एक कहानी कहता है।इस प्रकार से व्हाट्सएप्प नंबर को ब्लॉक करना इनका एक ब्रह्मास्त्र के रूप में माना जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button