newsUncategorizedक्राइमछत्तीसगढ़सूरजपुर

हाथियों ने फिर एक युवक को पटक पटक कर उतारा मौत के घाट फिर हुआ ये…..

सूरजपुर 30 sep 2021 । जिले में फिर हाथियों ने एक युवक को पटक कर मार डाला है। लगातार इस तरह की यह चौथी घटना है ।तो वहीं ये खबर सुनते ही ग्रामीणों मे भारी आक्रोश सामने आया। जहाँ उन्होंने पहले सरहरी-प्रतापपुर मार्ग को जाम कर दिया।

फिर वन विभाग के रेंजर गांव पहुंचे तो वहां मौजूद महिलाओं ने रेंजर की कॉलर पकड़ ली और उनके साथ गाली-गलौज भी की है। बताया गया कि ये बवाल काफी देर तक चलता रहा। जिसके बाद मौके पर पहुंचे वन विभाग के अधिकारियों ने करीब 4 घंटे बाद इस हंगामे को शांत कराया है। मामला जिले के प्रतापपुर वन परिक्षेत्र का है। जानकारी के मुताबिक,मंगलवार की रात 11 बजे में ग्राम प्रहरी के पथरापारा निवासी नारायण पिता रामचंद्र (35) काम कर साइकिल से अपने घर लौट रहा था। इसी बीच गांव के ही देवलाल के घर के पास बाहरा देव हाथी से उसका सामना हो गया।

हाथी को देख वो हड़बड़ा गया। वो कुछ कर पाता इससे पहले ही हाथी ने उसे सूंड से उठाकर जमीन पर पटक दिया। जिससे उसकी मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई। वहीं अब इस मामले में मुख्य वन संरक्षक अनुराग श्रीवास्तव ने देर शाम रेंजर कमलेश कुमार राय, वनपाल गुलशन यादव व गार्ड जीतन सिंह को सस्पेंड कर दिया है। युवक का शव इस तरह से सड़क किनारे पड़ा हुआ था। इस बात की सूचना परिजनों और गांव वालों को बुधवार सुबह 6 बजे लगी। ग्रामीणों ने देखा कि उसका शव सड़क किनारे पड़ी हुई है। रामचंद्र की लाश देख ग्रामीण नाराज हो गए, धीर-धीर गांव के लोग वहीं जमा हो गए और वन विभाग की टीम के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। इतना ही नहीं उन्होंने सरहरी-प्रतापपुर मार्ग को जाम कर दिया।

इधर, जब वन विभाग की टीम को इस बात का पता चला तब करीब 9 बजे सुबह रेंजर कमलेश राय अपने अमले के साथ मौके पर पहुंचे। रेंजर को देख ग्रामीण और नाराज हो गए। महिलाओं ने रेंजर की कॉलर पकड़ ली। इसके अलावा उनके साथ गाली-गलौज और झूमाझटकी भी की गई है। विवाद बढ़ता देख आस-पास के लोगों ने ही महिलाओं को शांत कराया। पर ग्रामीण लगातार वन विभाग के खिलाफ नारेबाजी करते रहे।

Back to top button