Uncategorizedधरमजयगढ़

महुआ बीनने गये वृद्ध के लिए, गजराज बन गया यमराज उतारा मौत के घाट पढ़िए पूरी खबर…..

विनोद पटेल

धरमजयगढ़। छत्तीसगढ़ के कई वन मण्डल में विगत कई वर्षों से हाथियों ने स्थाई डेरा जमा लिया है। जिसमें वन मण्डल धरमजयगढ़ क्षेत्र भी शामिल है। शुरू में एक दो हाथियों के साथ इस क्षेत्र में आने वाले हाथियों की संख्या अब सैकड़ों में हो गई है।

जो अब लोगों का जीना मुश्किल कर दिए हैं।क्योंकि अब तक हाथियों ने सैकड़ों लोगों की जान ले ली है। आज फिर एक वृद्ध को हाथी ने बेरहमी से मार डाला है। घटना वन मण्डल धरमजयगढ़ क्षेत्र के क्रोन्धा गांव की है।

बताया जा रहा है कि घासीराम यादव पिता डेरिहा उम्र लगभग 65 वर्ष आज सुबह महुआ बीनने लोटन गया था। जहाँ हाथी ने उसे मार डाला है। घटना की सूचना वन विभाग को मिलते ही मौके पर पहुंच गए हैं।

जहाँ आगे की कार्यवाही की जा रही है। बता दें कि वनांचल क्षेत्र होने के कारण जीवनयापन के लिए बहुत बड़ी जनसंख्या वनोपज पर आश्रित है।

Back to top button