Uncategorizedक्राइमछत्तीसगढ़रायगढ़

● प्रेम के झूठे स्वांग पर प्रेमिका की खुदखुशी, मर्ग जांच पर प्रेमी का आत्महत्या के लिए उकसाना उजागर….

आरोपी युवक को गिरफ्तार कर भेजा रिमांड पर, आरोपी गया जेल….

*रायगढ़* । थाना तमनार क्षेत्र की युवती के साथ लैलूंगा का सूरज तिग्गा पिछले 5 साल से प्रेम प्रसंग रखा, उसे शादी का सपने दिखाया फिर धोखा देकर दूरी बनाने लगा जिससे क्षुब्द होकर युवती फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली । मर्ग जांच पर युवक प्रेम प्रसंग बनाकर धोखेबाजी कर युवती को गाली गलौच कर छोड़ देने से युवती आत्मग्लानि महसूस कर खुदखुशी कर लेना पाये जाने पर आरोपित युवत के विरूद्ध *धारा 306 IPC* का अपराध पंजीबद्ध कर कल दिनांक 07.08.2022 को आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया है । थाना तमनार के मर्ग क्रमांक मर्ग क्रमांक 11/2021 की मृतिका (20 वर्षीय) के मर्ग जांच पर पाया गया कि युवती पढाई के दौरान खेल स्पर्धा में शामिल होने लैलूंगा गई थी, जहां सूरज तिग्गा (24 साल) थाना लैलूंगा से जान परिचय हुआ । दोनों के बीच लगभग 05 वर्ष से प्रेम संबंध चल रहा था । युवती अक्सर युवक के घर भी जाती थी। सूरज युवती को शादी करने का प्रलोभल दिया था । दिनांक 26.02.2021 को युवती अपने चाचा के साथ शादी में शामिल होने का बहाना कर ग्राम कटकलिया गयी थी । जहां उसका चचेरा भाई मिला, उसका चाचा युवती को कटकलिया में छोड़कर चला गया । जहां युवती और उसके भाई के साथ सूरज का व्यवहार ठीक नहीं था, सूरज युवती को उसके चचेरा भाई के सामने गाली गलौच किया और उससे पीछा छुड़ाने अपने गांव चला गया । युवती अपने चचेरा भाई के साथ सूरज के गांव घर गई, जहां सूरज और युवती के बीच झगड़ा विवाद हुआ जिसके बाद युवती अपने घर आ गई । उस रात युवती काफी परेशान थी । सूरज को मोबाइल पर बात की ‍फिर दोनों में कहा सुनी हुआ । युवती की मां उसे समझाई, युवती मुझे कुछ देर अकेला छोड़ दो बोली और कमरे में जाकर अपने दुपटटा को म्यांर में बांधकर फांसी लगा ली, घरवाले जीवित है सोंचकर फंदा काटकर उपचार के लिये तमनार अस्पताल लेकर गये । डाक्टर चेक कर मौत हो जाना बताया । मर्ग जांच पर सूरज तिग्गा द्वारा झूठा प्रेम संबंध बनाकर उसे धोखे में रखा उसके व्यवहार, गाली गलौच, झगड़ा करने से युवती दुखी एवं परेशान होकर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली । आरोपी सूरज तिग्गा पर धारा 306 भादवि के तहत अपराध पंजीबद्ध कर आरोपी को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया, जहां जेल वारंट पर आरोपी को जेल दाखिल किया गया है ।

Back to top button