Uncategorizedक्राइमछत्तीसगढ़प्रदेशसरगुजा

जादू टोना जैसे अंधविश्वास के चक्कर में ,यूवक की गई जान ,बहन का प्रेमी ही निकला युवक का हत्यारा..

सरगुजा 28 अप्रैल 2021। जादू टोना जैसे अंधविश्वास के चक्कर में विगत 2 अप्रैल को सीतापुर के हर्रा मार निवासी की संदिग्ध अवस्था में सांगुल नदी के पास लाश मिलने की अंधे कत्ल की गुत्थी को अंततः पुलिस ने सुलझा ली। मृतक की बहन के खुलासे के उपरांत पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया।

मिली जानकारी के अनुसार विगत 2 अप्रैल को ग्राम हर्रामार सांगुल नदी के पास एक युवक की लाश मिली थी। युवक के सिर एवं चेहरे पर चोट के गहरे निशान थे। किसी अज्ञात व्यक्ति ने पत्थर से वार कर उसकी हत्या की थी। सूचना के बाद घटना स्थल पर पहुँची पुलिस को खून से सना पत्थर तथा सौ मीटर की दूरी पर सांगुल नदी में मृत युवक के कपड़े मिले थे। शिनाख्त के दौरान युवक की पहचान रवि प्रकाश आ धनेश्वर राम निवासी हर्रामार के रूप में हुई थी।
इस घटना के बाद पुलिस हत्या की वजह जानने एवं आरोपी की तलाश में युद्ध स्तर पर जुटी हुई थी किंतु कोई सुराग हाथ नही लग रहा था। इसी बीच शंका के आधार पर परिवार वालो को दबाव बनाकर मृतक की बहन से पूछताछ की तब जाकर इस मामले का खुलासा हुआ।

बहन का प्रेमी ही निकला हत्यारा


मृतक की बहन के प्रेमी ने इस घटना को अंजाम दिया था और हत्या के बाद अपनी प्रेमिका को इस हत्या के संबंध में अवगत करा दिया था। इस संबंध में थाना प्रभारी रूपेश नारंग ने बताया कि मृतक रवि प्रकाश की बहन का तोताराम यादव नामक युवक से प्रेम संबंध था जिस वजह से तोताराम रवि प्रकाश के घर आया जाया करता था। रवि प्रकाश का भी अपनी सगी मौसी की लड़की से प्रेम संबंध था और वो उससे शादी करना चाहता था जिसका घरवाले विरोध करते थे।

घरवालों के विरोध से युवक काफी परेशान था। तभी तोताराम ने उसे अपने बहकावे में लेते हुये बोला कि मैं झाड़-फूंक कर जड़ी बूटी एवं मोहनी जोगनी का दवाई दूँगा जिससे उसके घरवाले मान जायेंगे। युवक तोताराम के बातो में आ गया और जादू टोना के चक्कर मे तोताराम से मिलने उसके घर आने-जाने लगा।

जादू टोना के चक्कर में हई वारदात


घटना के दिन भी युवक जादू टोना के चक्कर मे तोताराम के पास गया था। जहाँ से घर वापसी के दौरान मोहनी जोगनी का काम नही होने पर तोताराम और युवक की सांगुल नदी के पास बहस हो गई और गुस्से में आकर तोताराम ने पत्थर से वार कर युवक की हत्या कर दी।हत्या के बाद देर रात तोताराम ने अपनी प्रेमिका एवं मृतक की बहन को इस घटना के संबंध में पूरी वस्तुस्थिति से अवगत करा दिया था। भाई की हत्या के संबंध में सब कुछ जानने के बाद भी कलयुगी बहन ने मुँह नही खोला और प्रेमी को बचाने के चक्कर मे इस घटना पर पर्दा डालते हुये चुप्पी साधे रखी।

इस हत्या के बाद लड़की के हावभाव को देखते हुये परिजनों को यह शंका थी कि उनकी लड़की का इस हत्या से जरूर कोई न कोई लेना देना है। उन्होंने शंका के आधार पर जब अपनी लड़की से पूछताछ की तब जाकर इस मामले का खुलासा हुआ। पूछताछ के दौरान लड़की ने प्रेमी द्वारा भाई की हत्या करने की बात परिजनों को बताई।

25 दिन बाद हुआ घटना का खुलासा


25 दिनों बाद हुये कत्ल के खुलासे के बाद परिजनों ने पुलिस को सारी जानकारी से अवगत करा दिया। फिलहाल मृतक की बहन द्वारा की गई खुलासे के बाद इस अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझा ली गई है। पुलिस ने आरोपी तोताराम को धारा 302 के तहत हत्या के जुर्म में गिरफ्तार करते हुये न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया है।

इस कार्रवाई में थाना प्रभारी रूपेश नारंग सहित प्रधान आरक्षक नंदकुमार प्रजापति, आरक्षक पंकज देवांगन, एहसान फिरदौसी, अभिषेक राठौर, संजय एक्का एवं महावीर पैंकरा शामिल थे।

Back to top button