Uncategorizedछत्तीसगढ़बरमकेला

जिले में सुरक्षित नही हैं भ्रस्टाचार उजागर करने वाले पत्रकार…फर्जी शिकायत के विरुद्ध पीड़ित पत्रकार ने पुलिस अधीक्षक और प्रेस क्लब के समक्ष लगाई न्याय की गुहार…

रायगढ़ । बरमकेला रायगढ़ जिले के जनपद पंचायत बरमकेला के गोबरसिंहा के बहुचर्चित मामला ग्राम पंचायत के भ्रष्टाचार उजागर करने वाले स्थानीय पत्रकार के विरुद्ध फर्जी शिकायत के विरुद्ध पत्रकार ने अपनी दुखड़ा सुनाने जिले के पुलिस अधीक्षक रायगढ़ के सामने प्रस्तुत हुए जिस पर जिला कप्तान ने भी अपिलार्थी को निष्पछ जॉच करने का आश्वासन दिया।

पूरा मामला विस्तारपूर्वक..

मामला आज से लगभग एक सप्ताह पूर्व का है जो ग्राम पंचायत गोबरसिंहा के भ्रष्टाचार को लेकर भारत सम्मान न्यूज के स्थानीय पत्रकार ने एक खबर प्रकाशन किया था जिसपर उक्त ग्राम पंचायत के सरपंच पति को नागवार गुजरा था इसलिए उन्होंने स्थानीय पत्रकार को रात्रिकालीन में फोन कर अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए गाली गलौज किया था जिसपर उक्त पत्रकार ने नजदीकी थाना बरमकेला में लिखित शिकायत किया है और उसी शाम उक्त मामले में सरपंच पति ने भी पत्रकार के विरुद्ध 50000/रूपये की अवैध उगाही और मुझे फोन करके पैसे मांगने का आरोप लगाया है।
पुलिस ने अभी तक किसी भी प्रकार से दोनों शिकायतकर्ताओं के विरुद्ध अपराध दर्ज नहीं किया गया है जबकि स्थानीय पत्रकार द्वारा सबूत पूर्वल शिकायत किया गया है।

जिला पंचायत और कलेक्टोरेट में शिकायत……

उक्त मामले में पत्रकार द्वारा ग्राम पंचायत की भ्रष्टाचार की जॉच करने के लिए जिला पंचायत रायगढ़ व कलेक्टर रायगढ़ में उपस्थित होकर स्वयं आवेदन प्रस्तुत किया है तथा पुलिस अधीक्षक रायगढ़ से मिलकर अपनी आपबीती बताई तथा प्रदेश स्तर पर अपनी शिकायत पुलिस महानिरीक्षक बिलासपुर, पुलिस महानिदेशक रायपुर, छत्तीसगढ राज्य अनुसूचित जाति आयोग रायपुर को तथा जिला प्रेस क्लब रायगढ़ को भी लिखित शिकायत किया है।

इस चर्चित मामले को लेकर जब उनके ब्यूरो हेड द्वारा गोबरसिंघा के सरपंच पति से संवाददाता के ऊपर अवैध उगाही के आरोप को लेकर फोन पर बात की और उन्हें आश्वस्त किया कि अगर हमारे संवाददाता गलत होंगे तो हम उन्हें न सिर्फ समाचार पत्र के बाहर करेंगे बल्कि उनके ऊपर कड़ी कार्यवाही भी करेंगे तब उन्होंने फोन पर किसी भी प्रकार की जानकारी देने से इनकार करते हुए मिलने पर साक्ष्य प्रस्तुत करने की बात कही जिस वो मिलने को राजी हो गए तथा अगले दिन मिलना सुनिश्चित किया गया किंतु अगली सुबह जब बरमकेला पहुंचकर उन्हें संपर्क किया तो उन्होंने फोन पर बताया कि आज मैं व्यस्त हूं आप लोगों से नहीं मिल सकता इस तरह उन्होंने अपना पक्ष और आरोपों को सिद्ध करने वाले किसी प्रकार का सबूत प्रस्तुत न कर आनाकानी करते नजर आए जिससे सरपंच द्वारा किया गया शिकायत फर्जी प्रतीत होता है..! जिसके बाद पत्रकार द्वारा स्वयं निष्पक्ष जांच की मांग को लेकर आज जिला मुख्यालय में प्रेस क्लब और जिला प्रशासन को आवेदन देकर दोषी के ऊपर कड़ी कार्यवाही की मांग की है।

पत्रकार ने संलग्न किए दस्तावेज:-

आवेदक ने ग्राम पंचायत में भ्रष्टाचार से जुड़े 400 पेज के दस्तावेज जिला पंचायत और जिला कलेक्टर को दिए हैं पुलिस अधीक्षक और प्रेस क्लब को आवेदन के साथ पेपर कटिंग,इनकमिंग कॉल की स्क्रीनसॉट,थाने में की गई शिकायत की प्रतिलिपि भी संलग्न किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button