Uncategorized

कलयुगी पिता ने मासूम बच्चे के साथ अप्राकृतिक संबंध बनाया फिर उतारा मौत के घाट , ऐसे हुआ खुलासा ।

बिलासपुर के सीपत थाना क्षेत्र में चार वर्षीय मासूम की हत्या का खुलासा पुलिस ने चंद घण्टो में ही कर दिया है। मासूम के पिता ने ही शराब के नशे में उसकी हत्या कर दी थी। उसे मासूम के अपना बच्चा न होने का संदेह था। पुलिस ने चंद घण्टो में ही हत्या की गुत्थी सुलझा कर आरोपी पिता को गिरफ्तार कर लिया है।

सीपत थाना क्षेत्र के ग्राम सेलर में आज मदन सुरजे के चार वर्षीय पुत्र शौर्य उर्फ दिव्यांशु सुरजे की घर के बाहर तड़के सुबह चार बजे लाश मिली थी। सूचना पर पहुँचे पुलिस को जानकारी मिली कि बच्चा कल शाम को खेलते हुए घर के सामने से गायब हो गया था।

जिसकी आज लाश मिली है। पुलिस ने जांच आगे बढ़ाई इसमें पता चला कि बच्चे को शाम करीबन चार बजे उसके दादा ने दुकान में चॉकलेट खिलाई फिर खेलने भेज दिया। बच्चे को आखरी बार उसके पिता के ही साथ देखा गया है। पिता मदन उस वक्त शराब के नशे में भी था। पुलिस ने शक के आधार पर उसके पिता के ही हत्यारे होने को दिशा में ही जांच आगे बढ़ाई और गांव में पूछताछ शुरू की।

पूछताछ में पता चला कि मदन सुरजे खेती किसानी के साथ ही पेंटर का भी कार्य करता है। उसने अपने पड़ोस में रहने वाली सलमा से 5 वर्ष पहले प्रेम विवाह किया था। शादी से उसे दो बच्चे थे जिसमें बड़ा चार वर्षीय शौर्य व एक साल की बेटी थी।

प्रेम विवाह के बाद उसकी अपने ससुराल वालों से भी अनबन रहती थी, पर शौर्य उर्फ बल्ला के होने के बाद प्रेम विवाह को उसके ससुराल वालों ने मंजूरी दे दी थी। पूछताछ में पता चला कि पति पत्नी में अक्सर विवाद होता था और कल भी दोनो के मध्य झगड़ा हुआ था।

मदन की पत्नी ने बताया कि शराब के नशे में वह अप्राकृतिक सम्बंध बनाने का दबाव बनाता था। मना करने पर चरित्रहीन होने का आरोप लगा कर मारपीट करता था। जिसके कारण वह उससे डरती थी।

शुक्रवार की सुबह भी इसी वजह से झगड़ा होने पर वह मायके चली गई थी। जिसे मदन ने मना कर घर वापस लाया था। वापस लाकर वह पत्नी से फिर से अप्राकृतिक सम्बंध बनाना चाहता था। जिससे मना करने पर विवाद हुआ फिर उसकी पत्नी दुबारा मायके वापस चली गई।

शराब के नशे में चूर मदन ने पत्नी के मायके वापस जाने के बाद अपने बच्चे को शाम लगभग 5 बजे गांव की गुड़ी से वापस लाया और घर लाकर उसके साथ अप्राकृतिक कृत्य किया। जिससे बच्चा रोने लगा तो गला घोंट कर उसकी हत्या कर दी।

लाश को उसने अपने कमरे में बेड के नीचे छुपा दिया। फिर रात्रि में 11 बजे अपने ससुराल के कोठार में छुपा दिया। और गांव वालों के साथ बच्चो को खोजने का नाटक करता रहा। फिर मौका मिलने पर रात्रि तीन बजे घर के सामने गली में रख दिया। जहां उसके भतीजे ने सुबह 5 बजे लाश देखकर घर वालो को सूचना दी।

बच्चे के मलद्वार में खून के निशान देखकर व पूछताछ में मिली जानकारी के आधार पर पुलिस ने जब आरोपी मदन सुरजे को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की तब वह टूट गया औऱ बताया कि उसे संदेह था कि बच्चा उसका नही है इसलिए उसकी हत्या उसने कर दी है। पुलिस ने आरोपी मदन सुरजे को गिरफ्तार कर पूरे प्रकरण का खुलासा किया है।

Back to top button