Uncategorizedछत्तीसगढ़सारंगढ़

सारंगढ़ में फिर पुलिस विभाग पर लगा अवैध वसूली का आरोप…..पढ़िए पूरी खबर……

सारंगढ़ 20 jun 2021 । सारंगढ में पद का रुआब व कानून का धौंस देकर अवैध वसूली का खेल जोरो पर चल रहा है। कभी डॉक्टर से तो कभी ग्रामीण से यहां कोई सेव नही बल्कि सरकार आम नागरिक की सेवा के लिए वर्दी दिया गया लेकिन यहां की पुलिस ने तो सेवा करने की बजाय डरा धमका कर मेवा ले रहे है । दरअसल पूरा मामला इस प्रकार है कि निजी कार्य के लिए ट्रेक्टर में लोड कर गिट्टी ले जा रहे ग्रामीण से गोमर्डा अभ्यारण्य के वनरक्षक खगेश्वर रात्रे और सारंगढ थाने में पदस्त बेहरा द्वारा 10 हजार रुपये डरा धमका कर वसूल कर लिया गया । लेक़िन शेष के 5 हजार के लिए अत्यधिक दबाव बनाए जाने पर पीड़ित ने इसकी लिखित शिकायत SDM दफ्तर में पीड़ित ने लिखित पर किया है। सारंगढ थाना से सम्बंधित यह वसूली का दूसरा मामला सारंगढ में एक बार फिर अंचल सहित मुख्यालय के आला अधिकारियो का कान खड़े कर दिए है । जबकि पखवाड़े भर पहले तहसीलदार व थाना के ही सब-इस्पेक्टर ऐसे ही वसूली कांड में निलंबित हो चुके है।


आवेदक नारायण कुर्रे ग्राम भँवरपुर थाना सारंगढ का रहने वाला है, नारायण ने अपने शिकायत पत्र में उल्लेखित किया है कि, वह 15 जून की सुबह अपने निजी ट्रेक्टर वाहन से वह ग्राम भंवरपुर से बरदरहा राजस्व सरकारी व निजी भूमि लात नाला के पास गिट्टी लेने के लिए गया था। जहां वनरक्षक खगेश्वर रात्रे व सारंगढ थाने में पदस्त प्रधान आरक्षक बेहरा एवम अन्य आरक्षक आये हुए थे। जिसके द्वारा आवेदक को वर्दी व कानून का धौंस दिखाकर डराते हुए जेल भेज देने की धमकी देने लगे ,ट्रैक्टर को थाने में जप्ती करवाकर सड़ा देने की डर दिखाकर व्याकुल कर दिया। इससे डर कर प्रार्थी ने प्रधान आरक्षक बेहरा को 10 हजार रुपये दिया गया । ततपश्चात प्रार्थी घर आ गया उसके बाद उनके द्वारा बार बार फोन करके शेष रक़म की मांग करने लगे।


इससे व्यथित होकर ग्रामीण ट्रेक्टर मालिक ने SDM दफ्तर में आकर जिला कलेक्टर,एसपी एवम वन मंडल अधिकारी को प्रतिलिपि में आवेदन प्रस्तुत कर उचित कारवाही के लिए दिया है। आवेदन कर्ता के लिखित शिकायत की भनक दोनो विभाग को लगते ही अफरा तफरी मच गई कि आखिर इस ही थाने में एक सब इस्पेक्टर की निलंबित होने के वावजूद भी इनको सबक नही मिल पाई।

Back to top button