Uncategorizedक्राइमछत्तीसगढ़रायगढ़ पुलिस

रायगढ़ / हाईकोर्ट में बाबू की नौकरी लगाने के नाम पर शहर के दो युवकों से किये थे ठगी….देखिए विडिओ…

रायगढ़

नगर कोतवाल की सक्रियता से दो और ठग आये #कोतवाली पुलिस की गिरफ्त में….

ठगी में शामिल लोकल नेटवर्क व बिलासपुर कनेक्शन का किया गया भाडाफोड़….

रायगढ़ 30 july 2021 । एसपी श्री अभिषेक मीणा के मार्गदर्शन पर नगर कोतवाल मनीष नागर की टीम द्वारा नौकरी लगाने के नाम ठगी करने वाले दो शातिर आरोपियों को गिरफ्तार किया गया । आरोपीगण शहर के दो युवकों को ढाई-ढाई लाख रूपये में हाईकोर्ट में बाबू की नौकरी लगाने का झांसा देकर 50-50 हजार रूपये प्राप्त कर चुके थे । गिरफ्तार आरोपी में एक आरोपी को चक्रधरनगर तथा दूसरे आरोपी को बिलासपुर से शेष रकम रुपए लेने रायगढ़ आने बुलाया गया जिसकी गिरफ्तारी चक्रधरनगर क्षेत्र से की गई है । कोतवाली पुलिस आरोपीगण और कितने युवकों के साथ ठगी किये हैं तथा इनके नेटवर्क में कौन-कौन शामिल हैं, इस ओर विवेचना की जा रही है । जानकारी के अनुसार शिकायतकर्ता दीपक देवांगन पिता राजेश देवांगन उम्र 23 साल निवासी बावलीकुंआ कोतरारोड़ थाना कोतवाली रायगढ़ दिनांक 29/07/2021 को थाना सिटी कोतवाली आकर थाना प्रभारी निरीक्षक मनीष नागर से मिलकर उन्हें ठगी की जानकारी देते हुये बताया कि एम.काम की पढाई कर आर.एस.ट्रेडिंग कंपनी में पार्ट टाइम जॉब करता था ।

वहां *रितेश सिदार पिता शिवचरण सिदार उम्र लगभग 40 वर्ष बंगलापारा चक्रधरनगर* भी काम करता था जो इसे हाईकोर्ट में बाबू की नौकरी लगा दूंगा, जिसके लिए 2,50,000 रूपये लगेगा बोला था । उसी बात को यह अपने दोस्त राजेन्द्र रजक को दिनांक 04.09.2020 को बताया । दोनों रितेश सिदार को मोबाईल पर सम्पर्क कर कसेरपारा में मिले । रितेश इन्हें ऑफ लाईन विकेंसी है कहकर व्हाटसअप में बताया जिसमें पद असिस्टेंट टाईपिस्ट पद का उल्लेख था । इन्हें भरोसा दिलाने के लिये आरोपी PDF भी दिखाया जिसमें हाईकोर्ट की विकैंसी का उल्लेख था । दोनों मिलकर सितम्बर 2020 को 50-50 हजार रूपये रितेश को नौकरी लगाने के नाम पर दे दिये । उसके बाद से रितेश शेष रकम 2 लाख रूपये बचा है कहकर लगातार रूपये मांग करता रहा । कुछ दिन बाद इन्हें पता चला कि हाईकोर्ट में टाईपिस्ट पदो की भर्ती हो चुकी है । तब इन्हें धोखाधड़ी का एहसास हुआ और ये रितेश से रूपये वापस मांगने लगे । तब रितेश इन्हें तुम लोगों का पैसा मैं वकील अमित श्रीवास्तव को नौकरी लगाने के लिये दे रखा हूँ वो पैसा वापस देगा तब तुम लोगों को वापस दूंगा, रितेश को तुमको रूपये दिये हैं, लौटाओ कहने पर गाली गलौच कर शिकायत करने पर नुकसान करने की धमकी दे रहा है, बताया । थाना प्रभारी कोतवाली द्वारा आरोपी 1-रितेश सिदार 2- अमित श्रीवास्तव के विरूद्ध *अप.क्र. 1066/2021 धारा 294, 506, 420,34 IPC* के तहत अपराध पंजीबद्ध कर वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन पर तत्काल आरोपी *रितेश सिदार पिता शिवचरण सिदार उम्र लगभग 40 वर्ष बंगलापारा चक्रधरनगर* को गिरफ्तार किया गया, जिससे पूछताछ बाद अपराध में अमित श्रीवास्तव की संलिप्तता पाये जाने पर कोतवाली थाने से एक टीम आरोपी पतासाजी/गिरफ्तारी के लिए बिलासपुर रवाना किया गया। उसके बाद थाना प्रभारी कोतवाली निरीक्षक मनीष नागर द्वारा प्रार्थी के माध्यम से अमित श्रीवास्तव को शेष रकम लेने रायगढ़ लेने आना कहकर झांसा देकर रायगढ़ बुलाया गया जिसकी गिरफ्तारी चक्रधर नगर थाना क्षेत्र से की गई है। एसपी श्री अभिषेक मीणा द्वारा आरोपीगण और कितने भोले-भाले नवयुवकों को ठगी का शिकार बनाया गया है तथा इनका नेटवर्क और किन-किन जिलों में जुड़ा है । इस ओर बारीकी से विवेचना करने कोतवाली पुलिस को निर्देशित किया गया है । विदित हो कि हाल ही में कोतवाली पुलिस द्वारा व्लर्ड टूर हॉली-डे पैकेज के नाम पर ठगी करने वाले ड्रीम ताज हॉलिडे प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के चार शातिर ठगबाजों को सलाखों के पीछे पहुंचाया गया है । नौकरी के नाम पर ठगी करने वाले दोनों आरोपियों को आज दोपहर रिमांड पर भेजा गया है । अपराध विवेचना, आरोपी पतासाजी/गिरफ्तारी में थाना प्रभारी मनीष नागर, उप निरीक्षक बी.एस. डहरिया एवं हमराह स्टाफ की महत्वपूर्ण भूमिका रही है ।

Back to top button