Uncategorizedसारंगढ़

शासकीय किरोडीमल अस्पताल के डॉक्टर और नर्सिंग स्टॉफ को सचिन ने दिया धन्यवाद..

जगन्नाथ बैरागी

अभी तक हम अधिकतर शासकीय अस्पतालों की लापरवाही या मनमानी के बारे में पढ़ते सुनते आ रहे हैं। लेकिन दूर-दराज गाँव से आने वाले या आर्थिक रूप से कम सम्पन्न परिवारों के लिए आज भी एकमात्र और बेहतर विकल्प किरोडीमल जिला चिकित्सालय ही है।

कलेक्टर भीमसिंह के शख़्त निर्देश का दिखने लगा असर-

संवेदनशील कलेक्टर भीमसिंह के निर्देश का असर जिला चिकित्सालय में दिखने लगा है। जहां पहले अवस्था का आलम था तो अब सुविधा के साथ-साथ नर्सिंग स्टॉफ के व्यवहार में भी सुधार की बात कही जा रही है। ऐसे ही एक सुखद समाचार सारंगढ़ से डिलीवरी हेतु गए दम्पति सचिन और किरण ने बताई।

आधी रात को डॉक्टर और नर्सिंग स्टॉफ ने दिखाई मानवता की मिशाल-
अपने पत्नी के डिलीवरी हेतु गए सचिन ने बताया कि जब आधी-रात को प्रसव पीड़ा होने पर उन्होंने वार्ड में उपस्थित नर्स को इसकी जानकारी दी, फिर क्या था तत्काल ड्यूटी में मौजूद डॉक्टर और नर्स ने महिला को लेबर रूम ले कर सुरक्षित प्रसव कराया । आज जच्चा और बच्चा दोनो स्वथ्य हैं।

जिले में नॉर्मल डिलीवरी कराने का पर्याय है शासकीय किरोडीमल जिला अस्पताल-
आज के दिन में पूरे जिले में अगर कहीं सबसे ज्यादा नॉर्मल डिलीवरी होती है तो वह शासकीय जिला अस्पताल ही है। लोगों की माने तो कुछ अस्पताल ऐसे भी हैं जहां नॉर्मल होने वाली डिलीवरी को भी पैसे कमाने के चक्कर मे सिजेरियन से कर दिया जाता है तो वहीं शासकीय जिला अस्पताल में हमेशा नॉर्मल डिलीवरी को प्राथमिकता दी जाती है।

सारंगढ़ विधायक और बीडीसी ने जताया हर्ष-
ज्ञात हो कि सचिन अपने क्षेत्र के सक्रिय कोंग्रेस कार्यकर्ता भी हैं जिनके घर मे विवाह के 4 वर्ष बाद किलकारी गूंजी है। संतान की प्राप्ति होने पर शोशल मीडिया में कांग्रेस के कार्यकता, मित्रगण ने सचिन को बधाई प्रेषित की साथ ही लोकप्रिय विधायक उत्तरी गणपत जांगड़े व बी.डी.सी. नरेश चौहान ने भी सचिन को बधाई दिया और जच्चा, बच्चा दोनो के उत्तम स्वास्थ्य की कामना की। तथा किरोडीमल शासकीय अस्पताल के डॉक्टर और नर्सिंग स्टॉफ को भी धन्यवाद दिया।

Back to top button