Uncategorizedक्राइमछत्तीसगढ़बसनामहासमुंद

➡️ शिक्षक परिवार को कारतूस और धमकी भरे पत्र भजेने वाले आरोपी गिरफ्तार


➡️ पुलिस की त्वरित कार्यवाही से खौफ जदा परिवार ने ली राहत की सांस


➡️ पूर्व परिचित ही निकला घटना का मास्टरमाइंड


➡️ वेब सीरीज देखकर हाई प्रोफाइल लाईफ स्टाइल जीने की चाहत ने बनाया आरोपी

महासमुंद/बसना 7 Dec 2021 । दिनांक 01.12.2021 प्रार्थी जगन्नाथ ने चौकी भंवरपुर में आकर रिपोर्ट दर्ज कराई की एक युवक एक कुरियर कंपनी से आया था जिसने उसे दो बंद लिफाफा दिया था। जिसने भजेने वाले का नाम पता नहीं है । उक्त लिफाफों में एक कारतूस जैसे दिखने वाली वस्तु और धमकी भरा पत्र होता है जिसने में 20 मिनट के अंदर सागरपाली के एक पेट्रोल पंप के पीछे में पांच लाख रुपये छोड़ देने की बात लिखा होता है इसके साथ ही किसी को सूचना देने पर भिलाई में पढ़ रहे बच्चों को जान से मार देने की धमकी लिखा होता है। उक्त सूचना पर चौकी भंवरपुर में धारा 384 ,506 भा. द.वि. का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया जाता है। पुलिस अधीक्षक श्री दिव्यांग पटेल ने इस प्रकरण की गंभीरता से लेते हुए अनुविभागीय अधिकारी सरायपाली श्री विकास पाटले के नेतृत्व में टीम का गठन किया गया। जिसमें बच्चों की सुरक्षा को प्राथमिकता से लेते हुए एक टीम भिलाई में बच्चों की निगरानी करने पहुँच जाती है इसके साथ ही भिलाई के स्थानीय पुलिस को इस बात की सूचना दे कर उनको सुरक्षा दी जाती है ।

घटना की जांच आरोपी के आने जाने से सभी संभावित स्थानों पर लगे सीसीटीवी फुटेज को खंगाला गया। सीसीटीवी फुटेज से पता चलता है कि इस घटना को अंजाम देने वाले 2 लोग थे। पुलिस टीम को सूचना मिलती है कि भंवरपुर के पास के गांव का एक युवक घटना वाले दिन भंवरपुर के आसपास देखा गया है। पुलिस की टीम उस युवक संदिग्ध युवक का पता लगाकर भांटागांव रायपुर में उसके घर में रेड मारकर उसे अपने अभिरक्षा में लेकर पूछताछ करती है तो उसने अपना नाम *(01)* हितेश यादव पिता लोकनाथ यादव उम्र 25 साल निवासी ग्राम दुर्गापाली चौकी भंवरपुर थाना बसना हाल भांटा गांव रायपुर का रहवासी बताया। प्रारंभिक पूछताछ में वह पुलिस की टीम का लगातार गुमराह करता रहा ।

जब पुलिस की टीम उस युवक से गहन और सिलसिलेवार सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुछताछ प्रारम्भ करती है तो वह टूट जाता है । उसने बताया कि वह जगन्नाथ राणा के परिवार से पूर्व परिचित है। हितेश मोबाइल में थ्रिलर और भाई गिरी के वेब सीरीज देखा करता था। ऐसो आराम की ज़िंदगी हाई फ्रोफाइल लाइफ़ स्टाइल जीने की उसकी चाहत बढ़ती गई और उसने अपने साथी *(02)* प्रभात साहू पिता हरेकृष्ण साहू उम्र 35 वर्ष कोदोगुड़ा थाना सरायपाली हाल निवासी प्रोफेसर कॉलोनी रायपुर को साथ मिलकर इस घटना को अंजाम दिया है।

हितेश यादव के निशानदेही पर दूसरे युवक को प्रोफेसर कालोनी स्थित उसके घर के गिरफ्तार कर लिया गया । और घटना में प्रयुक्त स्कूटी और मोबाइल को भी बरमाद कर लिया गया। आरोपियों से पूछताछ की जा रही है कि इन्होंने पूर्व में भी क्या और किसी घटना को अंजाम दिया है ? महासमुन्द पुलिस से इस त्वरित कार्यवाही से दहशदजदा परिवार ने राहत की सांस ली है और पुलिस की इस कार्यवाही के लिए उन्हें दिल से धन्यवाद ज्ञापित किया है। आरोपियों के शीघ्र पकड़े जाने से क्षेत्र की जनता ने भी राहत की सांस ली है। यह सम्पूर्ण कार्यवाही पुलिस अधीक्षक श्री दिव्यांग पटेल (भा. पु. से) और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती मेघा टेम्भूरकर साहू के मार्गदर्शन में अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) सरायपाली श्री विकास पाटले के नेतृव में बसना थाना प्रभारी निरीक्षक लेखराम ठाकुर ,भंवरपुर चौकी प्रभारी उनि उमाकांत तिवारी सायबर सेल प्रभारी संजय राजपूत ,टीम द्वारा की गई है।

Back to top button