Uncategorizedक्राइमछत्तीसगढ़जाजंगीर चांपा

ब्लॉक कांग्रेस हसौद अध्यक्ष के पद पॉवर पर हो रही महानदी की सीना छल्ली…. CM की निर्देशो का उल्लंघन…!


जांजगीर चाम्पा के हसौद ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष कुशल कश्यप के पॉवर के आगे झुक गया सरकार का नियम क्या? छत्तीसगढ़ सरकार भूपेश बघेल के द्वारा छत्तीसगढ़ के सभी जिलों के कलेक्टरों को निर्देश दिया गया कि नदी हो या महानदी हो अगर रेत की अवैध तस्करी हो रहा होगा तो इसमें कलेक्टरों को तत्काल दण्डनात्मक कारवाही करने की निर्देश दिया गया है। लेकिन जांजगीर चाम्पा के हसौद ब्लॉक के कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष कुशल कश्यप को सरकार की नियमो का डर नही,मिरौनी डेम नदी में मजदूरों से नही बल्कि जेसीबी ,पोकलेन से प्रतिदिन 15 से 20 हाइवा लोडिंग करके रोड पर गिराते गिराते फर्राटे भर रहे है और माइनिंग व राजस्व अधिकारी गहरी निंद्रा में विलीन दिख रहे है। ऐसे अगर सुस्ती रवैय्या सरकार की सरकारी अधिकारी सुस्त रहेंगे तो , ऐसे अवैध उत्खनन करने वाले माफियाओं के हौसला बुलंद होता जाएगा। ये हम नही बल्कि जांजगीर चाम्पा के मिरौनी डेम महानदी के सीना छलनी करते दिखेगा यह कोई कलेक्टर या मुख्यमंत्री का आदेश को नही मानते बल्कि अपनी नियम बनाते है।


ब्लॉक कांग्रेस कमेटी हसौद का अध्यक्ष है, तो उत्खनन करने में डर नही क्यो, क्या मुख्यमंत्री भी कांग्रेस का होने से डर
छत्तीसगढ़ में कांग्रेस का मुख्यमंत्री होने के कारण कुशल कश्यप को डर नही क्योंकि ये कांग्रेस के ब्लॉक अध्यक्ष होने के कारण इनको अधिकारियो का डर नही है, अगर कोई सवाल उठाएगा तो सीधा धमकी जिसमे जान से मारने की भरी शब्दों का भराईस रहेगा। ऐसे स्थिति में आखिर छत्तीसगढ़ प्रदेश कैसे स्वतंत्र रह पाएगा यहां तो कांग्रेस के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी का आदेश प्रत्येक कलेक्टरों को दिया जा चुका है लेकिन क्या हसौद ब्लॉक अध्यक्ष कुशल कश्यप को कलेक्टरों से डर नही क्या इनकी सत्ता का सरकार होने से किसी प्रकार का गलत कार्य भी कर सकते है या न्याय संविधान की कंडिका सबके लिए समान है अगर समान रहता तो कारवाही जरूर होगा अन्यथा ये मुख्य पॉइंट को दबा दिया जाएगा।


भर भर के निकल रहा हाइवा रेत रोड में गिरने से एक्सीडेंट का बन रहा कारण,जिम्मेदार कौन


जांजगीर चाम्पा जिले के मिरौनी टेम महानदी से निकलने वाले रेत को हसौद ब्लॉक अध्यक्ष कुशल कश्यप के द्वारा अवैध रूप से इनकी देख भाल में रेत की अवैध तस्करी कर रहे है जिसकी निकलने वाले डम्फरो ,हाइवे ,ट्रैक्टरों से निकल रहे सैकड़ो गाडियो का रेत सीधे रोड में जा गिर रहा है जहां आम जनमानस की आवा जाहि के लिए पर्याप्त नही बचा सड़क क्योंकि अवैध रेती की तस्करी करने वाले माफिया महज गाडियो का रॉयल्टी शासन से ले रहे है बाकी को अवैध तरीके से निकाल रहे है जिस पर शासन की कार्यवाही की आवश्यकता है।

मजदूरों के जगह JCB और पोकलेन से कर रहे हाइवे और ट्रैक्टरों पर रेत की लोडिंग
कलेक्टर कार्यलय से नियमित रूप का आदेश होता है जिसमे मजदूरों के द्वारा रेती लोडिंग किया जाएगा करके ठेकेदार द्वारा शपथ पत्र दिया जाता है जिसमे कलेक्टर कार्यलय से आदेश पारित किया जाता है लेकिन यहां क्या कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष के द्वारा टेंडर,ठेका मे करवाया जा रहा है अवैध तस्करी रेत की जिसमे गम्भीर क्यो नही अधिकारी न तो माइनिंग विभाग गम्भीर न ही आदेश करने वाले चेम्बर ऐसे में शाख कैसे बचेगी संविधान की नियमो का।

क्या कहते है कलेक्टर कार्यलय का अधिकारी


इसमें जानकारी नही था कि ऐसे अवैधानिक रेत की उत्खनन हो रहा है इसकी जानकारी माइनिंग अधिकारी को भेजा जाएगा।


क्या कहते है माइनिंग अधिकारी रमाकांत सोनी
इसकी जानकारी मुझे नही था अभी आपके माध्यम से हुआ है इसकी जांच करवाया जाएगा जांच उपरसन्त सही पाया गया तो कारवाही किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button