Uncategorizedछत्तीसगढ़सारंगढ़

सारंगढ़/गुडे़ली कालू चुना भठ्ठा संचालक के द्वारा शासन के आंखों में झोंक रहे धूल,मैनेजर द्वारा पत्रकारों के कैमरे को छिनने का प्रयास।

सारंगढ़ 20 july 2021 ।रायगढ़ जिले के सारंगढ़ अन्तर्गत आने वाले ग्राम गुड़ेली मे शासन की निर्धारित नियमों का धज्जियाँ उठाया जा रहा है। वहीं बात करें संबंधित अधिकारियों की तो उनें भली भांति ज्ञात है की यहां क्या चल रहा है, इस गलत भठ्ठे से कितनी मात्रा में उनको मलाई मिल रहा है ये मलाई उनको कैसे मिल रहा है इसका ताजा उदाहरण गुडेली में चल रहा इस कालू नामक चुना भट्ठा का है ।

जहां किसी भी मजदूर को न तो ग्लब् दिया गया है न ही किसी प्रकार का सुरक्षा किट वही, जब वहां के जो मैनेजर कहे या मुंसिर जब हमने उनसे बात कर उनका पक्ष जनना चाहें तो मीडिया से मुह छिपा कर भागना सही समझा, और जब हमने सवाल करना चाहा तो इस मैनेजर ने मीडिया की प्रश्नों का जवाब नही दे पाने के डर या काली करतूत उजागर न हो इसके डर में कैमरा को नीचे गिराने का प्रयास किया,

समझ नही आता ये खनिज विभाग और पर्यावरण विभाग आखिर इस भठ्ठे का कारनामा को जानते हुए भी क्यो कार्यवाही नही कर रहे है। क्या इनके पीछे इस विभाग का संरक्षण प्राप्त तो नही…..जबकि यहाँ बिना लीज का भंडारण और श्रमिको को कोई सुरक्षा किट भी नही देना सरकार की निर्देशो का खुला उलंघन है।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कुछ जिम्मेदार विभाग चुना भठ्ठे में आकर सील करने की कार्यवाही करते है , उसके बाद कुछ ही दिनो में जब उस विभाग को मोटी प्रसाद की चढ़ोत्तरी प्राप्त होते ही फिर खोलने का निर्देश दे दिया जाता है। आखिर ऐसा कब तक….क्या ऐसे बार बार कार्यवाही करके चुना भठ्ठे से रंगीन मलाई की प्राप्त करने के लिए तो नही कर रहे है। कालू चुना भठ्ठे में भार छमता से अधिक मात्रा में खनिज संपदा और न जाने कितने ऐसे चोरी छिपे चुना भठ्ठे संचालित कर रहे है कि इस चुना भठ्ठे का नाम तक नही लिखा हुआ है। विभाग की सुस्त रवैय्या यह दर्शाता है कि शांठगांठ की या विभाग का आशीर्वाद मिल रहा होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button