Uncategorized

दो सालों से जिला अस्पताल में है आतंक, आखिर किसका है आतंक जाने पूरा मामला…।

छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिला अस्पताल में बीती रात काजल नाम के किन्नर ने शराब के नशे में जमकर हंगामा किया। उसने सिपाही के सामने ही अस्पताल की स्टॉफ नर्स मीनाक्षी तिवारी को गंदी गंदी गालियां दी और थप्पड़ मारे। इतना सब हो जाने के बाद पुलिस वाला किन्नर को नहीं रोक पाया। अस्पताल की स्टॉफ नर्सों का आरोप है कि वह पिछले दो सालों से ऐसा करता आ रहा है। कई बार शिकायत के बाद भी दुर्ग पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है।

अस्पताल की सीनियर स्टॉफ नर्स मीनाक्षी तिवारी ने बताया कि काजल किन्नर शराब के नशे में देर शाम 7.30 बजे दूसरे किन्नर साथी दुर्गा को लेकर अस्पताल पहुंचा था। वो इतना नशे में था कि बोल भी नहीं पा रहा था। अस्पताल की ओपीडी में मौजूद स्टॉफ ने उसकी भर्ती बनाई और मेल वार्ड में भेजने लगा। इसी दौरान मीनाक्षी सिस्टर ने उसे किन्नर होने के चलते महिला वार्ड में भर्ती कराया। उसे बॉटल लगाने कैनुला लगाया। कैनुला लगाए 5 मिनट ही हुए की काजल किन्नर आई और नर्स से बोली दुर्गा को होश नहीं आ रहा है। नर्स ने कहा थोड़ी देर में आ जाएगा। इस पर उसने सही से इलाज न करने का आरोप लगाते हुए गाली गलौज करना शुरू कर दिया। मना करने पर उसने महिला वार्ड में ही जमकर हंगामा मचाया। खुद अपने हाथों से दुर्ग का कैनुला निकाला और बहते हुए खून के साथ बाहर लेकर गया। ऐसा करता देख वार्ड ब्वाय उसके रोकने दौड़ा। एक पुलिस कर्मी भी वहां आ गया। वो लोग उसे फिर मेल वार्ड ले जा रहे थे, तभी मीनाक्षी सिस्टर ने महिला वार्ड ले जाने की बात कही। इससे काजल किन्नर भड़क गया। उसने उसे गाली देना शुरू कर दिया। जब मीनाक्षी ने काजल को रोका उसने पुलिस वाले के सामने ही उसे थप्पड़ मारे। यह सब तमाशा देखता पुलिस वाला वहां खड़ा रहा, लेकिन किन्नर को नहीं रोका।

कोतवाली थाने में बैठा काजल किन्नर

कोतवाली थाने में बैठा काजल किन्नर

दो सालों से लगातार अस्पताल में किन्नर का आतंक
स्टॉफ नर्स मीनाक्षी और परिणिता सारथी का कहना है कि वो लोग रात में बिना सुरक्षा के लोगों का इलाज करते हैं। काजल किन्नर पिछले दो सालों में कई बार ऐसी हरकत कर चुका है। दुर्ग कोतवाली थाने में शिकायत के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई। उन्होंने कहा कि काजल के हौसले इतने बुलंद है कि वो पुलिस वालों के सामने मेडिकल स्टॉफ को गाली देता है और मारपीट करता है। इसके बाद भी कार्रवाई न होना पुलिस की लापरवाही है।

जिला अस्पताल के स्टॉफन ने असुरक्षा को लेकर जताया रोष

जिला अस्पताल के स्टॉफन ने असुरक्षा को लेकर जताया रोष

महिला स्टॉफ ने दी काम न करने की चेतावनी
अस्पताल की महिला स्टॉफ का कहना है कि उन्हें रात के समय सुरक्षा दी जाए। इस तरह कोई भी अस्पताल में आकर गाली गलौज मारपीट कर रहा है। आगे और भी कुछ हो सकता है। यदि अस्पताल की सुरक्षा व्यवस्था नहीं सुधरी और यही हालात रहे तो वो लोग मजबूरी में काम नहीं कर पाएंगे।
कोतवाली थाने में भी किन्नर ने किया हंगामा
बताया जा रहा है कि सूचना मिलने पर दुर्ग कोतवाली पुलिस रात में अस्पताल पहुंची। इसके बाद किन्नर को पकड़ कर थाने लगाया गया। काजल किन्नर को पुलिस थाने लाई तो वो वहां भी गाली गलौज करता रहा। हालांकि पुलिस ने मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।

Back to top button